Spread the love

सुखी होने का उपाय ?
✍️ २२३०

विनोदकुमार महाजन
——————————
सुखी होने का सबसे बेहतरीन उपाय कौनसा है ?
ह्रदयशून्य बनना ?

देश में भयंकर अराजकता का माहौल है ?…अराजकता आँखों से देखी नहीं जा रही है ?…सब बेबस,मजबूर हो ?
ह्रदयशून्य बनो ?
हिंदुत्ववादीयों पर हमले हो रहे है ? विशेषतः केरल,पश्चिम बंगाल में ? यह देखकर, अंदर ही अंदर, भयंकर दुखदर्द, पीडा होती है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
पाकिस्तान, बांगलादेश में हिंदुओं की स्थिती दयनीय बनती जा रही है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
देवीदेवताओं को,साधुसंतों को बदनाम किया जा रहा है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
संस्कृती पर दिनरात भयंकर हमले हो रहे है,और विकृतियां जोरों से बढती जा रही है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
ईश्वरतूल्य मोदिजी को बदनाम किया जा रहा है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
देश में समाजविघातक शक्तियों का जोर है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
हिंदुराष्ट्र निर्माण के लिए, यथोचित और अपेक्षित परिणाम नही मिल रहे है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
कार्यों में अपेक्षित यश तथा परिणाम नहीं मिल रहे है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
ह्रदयशून्य समाज में रहना भयंकर मुश्किल हो रहा है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
अपने ही भयंकर दुखदर्द, पीडा दे रहे है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
फ्री का लालची समाज, खुद का,समाज का, देश का भयंकर नुकसान कर रहा है ?
ह्रदयशून्य बनो ?
९० प्रतिशत घरों में भी विनावजह विवाद होता है ?
ह्रदयशून्य बनो ?

क्या ह्रदयशून्य बनना ही सभी समस्याओं का उत्तर है ?
मूकदर्शक बनकर तमाशियों का अत्याचार सहते रहना, ही सभी समस्याओं का उत्तर है ?

कबतक ह्रदयशून्य बनकर, पत्थर बनकर, जींदा लाशें बनकर जीवन गुजारते रहेंगे ?

समस्याओं का कोई,यथोचित हल है भी या नहीं ?
या स्थितप्रज्ञ बनकर, ह्रदयशून्य बनकर, सुख और दुखदर्द समसमान मानकर…
जीवनपर्यंत मूक और मौन रहना ही ?
सभी समस्याओं का उत्तर है ?

संपूर्ण सुखी जीवन का यही एकमेव और अंतिम उत्तर है ?
ह्रदयशून्य बनना ?

देश में भयंकर अराजक चलता रहेगा ?
हम भी मूकदर्शक बनकर, ह्रदयशून्य बनकर,
दंगाइयों का तमाशा देखते रहेंगे ?

तो फिर ?
कानून का राज देश में कब आयेगा ?
कौन लायेगा ?
गुनहगारों को तुरंत कठोर दंडित कौन करेगा ?
समस्त देशवासियों को,साधारण आदमियों को तुरंत न्याय देकर, उन्हें तुरंत सुखी कौन करेगा ?

प्रश्न अनेक !!!
अब सभी प्रश्नों के लिए,
एक ही उत्तर चाहिए नेक !!!

कौन उत्तर देगा ?
अराजकता तुरंत हटाकर, सभी को सुखी जीवन देने का कानून कौन बनायेगा ?

भयंकर विनाषकारी धर्मग्लानी कौन हटायेगा ?
तुरंत ?

हरी ओम्

Translate »
error: Content is protected !!