Sat. Jul 13th, 2024
Spread the love

*मोदिजी ,योगीजी मैं बेचैन हूं ,* *अस्वस्थ हूं , परेशान हूं !!*
✍️ २५०९

😭😭😭😭😭😭😭

मोदिजी , योगीजी
सचमुच मे मैं आज बहुत ही दुखी हूं , परेशान हूं , बेचैन हूं , अस्वस्थ भी हूं !
मेरे वैयक्तिक समस्याओं के कारण , मेरे निजी समस्याओं के कारण मैं दुखी नही हूं ! बल्की देश का बढता भयंकर अराजक , आक्रमणकारीयों की बढती शक्ती , राष्ट्रविघातक शक्तियों का तेजीसे बढता सामर्थ्य देखकर मैं दिनरात चिंतीत हूं , व्यथीत हूं !
और लगभग सभी राष्ट्रप्रेमीयों की भी यही स्थिति है !

मोदिजी ,योगीजी तेजीसे , आग की तरह चारों ओर बढता हुवा अराजक हटाईये देश बचाईये !
सज्जन शक्ती बचाईये , संभ्यता ,संस्कृती ,शालीनता ,
मानवता , ईश्वरी सिध्दांत , गौमाता बचाईये !
सनातन संस्कृति बचाईये !

हैवानों की रणनीति भयंकर तगडी और शक्तिशाली बनती जा रही है ! संपूर्ण देश से ही और संपूर्ण धरती से ही उन्हें सभ्यता , सत्य हटाना है !

और हमारा समाज गहरी नींद में है ! इसिलिए अब आखिरी आस आप ही हो !

कुछ तो भी किजिए , आत्मा भयानकता देखकर तडप रही है !

एक छोटासा इस्त्राएल ,उनके छोटेसे हमले के बाद ,गाजापट्टी का नामोनिशान ही मिटा देता है ! कितनी जबरदस्त जीद्द है उनके अंदर !?

और हमारा विशालकाय ,शक्तिशाली भारतदेश ; ? उपद्रवी पाकिस्तान का तुरंत सर्वनाश क्यों नहीं कर देता है !? यह अनेक सालों का पाकिस्तान का सरदर्द सदा के लिए क्यों नहीं मिटा देता है ?
सभी समस्याओं की जड और समस्याओं की भयानकता तो यही है !
मिटा दो नक्शे से ही सदा के लिए !
गाजा की तरह राख कर दो !

तभी देश के अंदर का अराजक भी सदा के लिए समाप्त हो जायेगा !

मोदिजी आपने शांती का मार्ग चुना है ! शांति से ही भारत को सोने की चिडिय़ा बनाना !
मगर यह सोने का भारत भविष्य में हैवानों के हाथों में जायेगा तो आपके मेहनत का क्या फायदा ? और धीरेधीरे यही स्थिति बनती जा रही है !

हैवानों के विनाशकारी मनसुबे अती भयावह दिखाई दे रहे है ! ठंडे दिमाग से जीतना उनकी आदत है ! वैश्विक स्तरपर भी इसकी काट नहीं है !

सिर्फ और सिर्फ इस्त्राएल के पास ही इसकी शक्तिशाली अंतिम काट है !

तो भारत भी इस्त्राएल जैसे सख्त और कठोर , तुरंत और निर्णायक फैसले क्यों नहीं ले रहा है ?

सज्जनशक्तियों की और कितनी जाने जाना चाहिए ?
पश्चिम बंगाल की अती भयावह स्थिति आँखों से देखी नहीं जा रही है ! कितने भयंकर ,भयानक अन्याय अत्याचार ? और दिनबदिन बढते ही जा रहे है ?
लोग भयभीत है ! भय के मारे भाग रहे है !

उन्हें बचाने की उनकी भाजपा की आखिरी आस थी ! वह भी धाराशायी हो गई है ? तो वहाँ के स्थानीय लोग भी भाजपा को मतदान भी क्यों और कैसे करेंगे ?
संपूर्ण देश की भी यही स्थिति बनती जा रही है !?
लगभग ??
भयभित समाज को आप तुरंत अभय नहीं देते है तो यह कौनसा कानून है ?
क्या यही कानून का राज है ?
क्या यही लोकतंत्र है ?
क्या हजारों क्रांतिकारियों ने अपनी जान देकर इसीलिए हमें आजादी दी थी ?

कुछ तो भी करो मोदिजी !
कुछ तो भी करो योगीजी !
निष्पाप लोगों की जान बचाईये !
उन्हें तुरंत न्याय दिजीये !
संपूर्ण देश आप की ओर आशा से देख रहा है !
बहुत अपेक्षाएं है आपसे संपूर्ण देश को !
उन्हें बचाने की आप ही आखिरी आस हो !
तुरंत कुछ किजिए !
प्रखर राष्ट्रप्रेमीयों ने आपको फिरसे तीसरी बार सत्तास्थान पर बिठाया है !

कुछ किजिए !
तुरंत किजिए !
सज्जनशक्तियों को बचाईये !
सत्य बचाईये !
हैवानियत सदा के लिए हटाईये !

यही समय है !
हैवानियत पर शक्तिशाली और अंतिम प्रहार करने का !

अभी भी इंतजार करते रहेंगे तो समय हाथ से निकल जायेगा !
भविष्य भयावह हो जायेगा !
उनके मनसुबे देखिए , भापीये !
अतीभयावह चल रहा है !
उनके मनसुबे साफ है !
और योजनाएं भी शक्तिशाली है !

मोदिजी ,योगीजी देश को बचाईये !
धर्म , संस्कृति को बचाईये !
सत्य को सत्य सनातन को बचाईये !

अभी नहीं तो ?
कभी भी नहीं ??

आगे ईश्वर की इच्छा !

जय हिंद !
वंदे मातरम् !
भारत माता की जय !
जय श्रीराम !

जय श्रीकृष्ण !
राधे राधे !

*विनोदकुमार महाजन*

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

Related Post

Translate »
error: Content is protected !!