Spread the love

” तुम्हें ” कौन बचायेगा ? और क्यों बचायेगा ??
✍️ २३८५

विनोदकुमार महाजन

👆🙊🫢🤔⁉❓

” उनका ” योजनाबद्ध तरीकों से
संपूर्ण विश्व में धर्म प्रचार और
प्रसार चल रहा है !
और ” तुम ?? ”
धर्म प्रचार और प्रसार तो दूर
धर्म की रक्षा करने में भी
असमर्थ हो !!
इसिलिए तुम्हे आखिर भागने के
सिवाय पर्याय नही है !
मगर कितने दिनों तक भागते
रहोगे ? और ” कहाँ ” भागोगे ??

सत्ता ,संपत्ती के लालच में
” हमारे लोग ” इतने अंधे बन गये है की , सामने सर्वनाश की खाई
दिखाई देनेपर भी सुधर नही रहे है !

आखिर मोदी योगी तुम्हें
कबतक बचायेंगे ??

और ” तुम ? ”
ईश्वर के भी अस्तीत्व का प्रमाण माँगनेवाले लोग ?
धर्म को आखिर बचायेंगे भी कैसे ??

भागते रहो , मरते रहो ,कटते रहो !
आपस में लड झगडकर नामशेष होते रहो !
यही तुम्हारा नशीब है !

तो तुम्हें बचायेगा भी कौन ?
और कैसे ??

जो तुम्हारे कल्याण के लिए
मर मिटने को भी तैयार है ?
उसी के खून के तुम प्यासे हो !

डूब मरो !!

⁉❓⁉❓⁉❓⁉

Translate »
error: Content is protected !!